Back to headlines

img

कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं का दावा- पार्टी नहीं चाहती थी हम बिहार में प्रचार करें

कपिल सिब्बल मनमोहन सरकार में मंत्री रह चुके हैं. (फाइल फोटो)बिहार चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस (Congress) में आंतरिक कलह अब खुलकर सामने आ रही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री(Kapil Sibal) ने एक इंटरव्यू में कहा कि कांग्रेस ने न सिर्फ बिहार चुनाव बल्कि देश के अन्य राज्यों में हुए उपचुनाव को भी गंभीरता से नहीं लिया. जिसके बाद लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर ऐसे नेता वाकई संवेदनशील थे तो उनको जमीन पर यह फर्क साबित करना था.

क्या उन्होंने पार्टी के हित में बिहार चुनाव में कोई काम किया. चौधरी के बयान पर सिब्बल तो कुछ नहीं बोले लेकिन उनके करीबी नेताओं ने हैरानी जताते हुए इसका जवाब दिया है.सूत्रों के मुताबिक, कपिल सिब्बल के करीबियों ने बताया है कि सिब्बल के बिहार में चुनाव प्रचार न करने की वजह सेव अन्य पार्टी नेता अनजान हैं. दरअसल G-23 के ज्यादातर नेता बिहार चुनाव के लिए प्रचारकों की लिस्ट में नहीं थे और वह बगैर पार्टी की अनुमति के प्रचार के लिए नहीं जा सकते थे.

News source ~ NDTV