Back to headlines

img

स्मार्ट मीटर के उपभोक्ता पोल से नहीं जुड़वा सकेंग कनेक्शन

स्मार्ट मीटर के बकाएदार उपभोक्ताओं की बिजली पाेल से किसी भी कीमत पर न काटी जाए। ऐसा करते हुए अगर कोई बिजली कर्मी मिलता है तो उसके खिलाफ विभाग कार्रवाई भी करेगा। इसके दिशा निर्देश मध्यांचल एमडी सूर्य पाल गंगवार ने जारी किए हैं। निर्देशों में उल्लेख किया गया है कि स्मार्ट मीटर उपभोक्ता पर अगर बकाया है तो उसकी बिजली संबंधित अभियंता ऑनलाइन कंट्रोल रूम से कटवाए। बिल जमा होने के तुरंत बाद आनलाइन ही कनेक्शन जोड़ दिया जाए। इससे स्थानीय स्तर पर जो मिलीभगत होती थी, वह नहीं हो सकेगी और विभाग को राजस्व भी मिल सकेगा। लेसा के अंतर्गत पौने तीन लाख से अधिक स्मार्ट मीटर लगाए गए हैं। वर्तमान में स्मार्ट मीटर लगाए जाने पर रोक लगी है। अभी तक कही स्मार्ट मीटर के उपभोक्ताओं का कनेक्शन ऑनलाइन काट दिया जाता था तो कही उपकेंद्र पर तैनात बिजली कर्मी पोल से केबल हटा देते थे। यही नहीं बकाएदार चंद पैसे देकर निजी कर्मियों से कनेक्शन जुड़वा लेते थे। वहीं बिजली विभाग इससे बेखबर रहता था। अब ऐसा नहीं होगा, स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं की बिजली ऑनलाइन ही काटने के निर्देश दिए गए हैं। उधर ट्रांस व सिस गोमती के मुख्य अभियंताओं ने भी अपने अधीक्षण अभियंता और अधिशासी अभियंता को इससे अवगत करा दिया है। वहीं स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं का तर्क है कि री कनेक्शन व डी कनेक्शन के एवज में जो फीस ली जा रही है, वह न ली जाए।

News source ~ Amar Ujala