Back to headlines

img

फेसबुक के पूर्व कर्मचारी का दावा- FB चाहता तो रोके जा सकते थे दिल्ली दंगे

सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक के एक पूर्व कर्मचारी को दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति के समक्ष गुरुवार को पेश किया गया, जिसमें उन्होंने कहा कि कंपनी के शीर्ष अधिकारी कंटेंट पुलिसिंग नियमों में हस्तक्षेप करते हैं। फेसबुक के पूर्व कर्मचारी मार्क लकी ने इस बात का दावा किया कि अगर फेसबुक ने सही समय पर एक्शन लिया होता तो दिल्ली दंगे, म्यांमार जनसंहार और श्रीलंका में हुए दंगों को रोका जा सकता था। दरअसल समिति ने फेसबुक के अधिकारियों के खिलाफ नफरत फैलाने वाले कंटेंट को जानबूझ कर नजरअंदाज करने से संबंधित आई शिकायतों की सुनवाई करते हुए गुरुवार को बैठक की थी। राघव चड्ढा की अध्यक्षता में ये बैठक हुई।

मार्क एस. लकी ने ये बयान दर्ज करवाया है। उन्होंने अक्टूबर 2017 और नवंबर 2018 के बीच फेसबुक के ग्लोबल इन्फ्लुएंसर्स विभाग में एक प्रबंधक के रूप में काम किया था। इस कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई टीमों के साथ शामिल होने का दावा किया था जो कंपनी के मुख्य कार्यों को संभालती हैं।

News source ~ Live Hindustan