Back to headlines

img

चीन की नई चाल, अब पैंगोंग झील में अंडरवाटर गतिविधियों पर भी रख रहा है नजर

भारत और चीन के बीच जब से लद्दाख सीमा पर तनाव शुरू हुआ है, तभी से ही चीनी सेना ने पैंगोंग झील के इलाके पर नज़र बनाई हुई है. चीनी सेना की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ग्राउंड फोर्स (PLAGF) हाइस्पीड पेट्रोलिंग क्राफ्ट के जरिए पानी पर नज़र गढ़ाए हुए है, जिनमें Type 305, Type 928D बोट का इस्तेमाल किया जा रहा है. लेकिन ताज़ा सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि चीन अब पैंगोंग त्सो की गहराई को जानने में भी लगा है. अब इसके लिए चीन की ओर से दुनिया की ताज़ा तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है, जो एंटी सबमरीन वॉरफेयर के लिए काम में लाई जाती है. 

31 जुलाई को इंडिया टुडे की OSINT टीम ने इस बारे में जानकारी दी थी कि फिंगर 4 से फिंगर 8 के बीच में चीन ने 13 बोट तैनात की हैं. फिंगर 4 से ढाई किमी. की दूरी पर फिंगर 5 के पास करीब आठ नई बोट की संख्या को बढ़ाया गया था. लेकिन अब जो ताजा स्थिति सामने आई है वो ऐसा ट्रेंड बताती हैं जो अब से पहले नहीं देखा गया. चीनी सेना PLA की एयरफोर्स अब पैंगोंग त्सो में अंडरवाटर एक्टिविटी पर नज़र बनाए हुए है. इसके लिए स्पेशल तरीके के एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसमें मैग्नेटिक अनॉमेली डिटेक्टर (MAD boom) लगा है.

News source ~ AajTak