Back to headlines

img

बिहार चुनाव : इमामगंज में विपक्ष परिवारवाद के बहाने जीतनराम मांझी को घेरने में जुटा

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी (फाइल फोटो).Bihar Election 2020: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi) और बिहार विधानसभा के पूर्व स्पीकर उदय नारायण चौधरी के बीच सीधा मुकाबला है.के ऊपर अपनी सीट के अलावा दामाद और समधिन को जिताने की जिम्मेदारी भी है. इमामगंज में चुनौतीपूर्ण सियासी लड़ाई है. हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) यानी हम पार्टी के सुप्रीमो जीतनराम मांझी की तबियत खराब होने से इमामगंज (Imamganj) चुनाव प्रचार करने का कार्यक्रम रद्द हो गया है. हम पार्टी को JDU ने अपने खाते से 7 सीटें दी हैं लेकिन 77 साल के बुजुर्ग जीतनराम मांझी पर अपनी सीट के अलावा समधिन ज्याति मांझी और दामाद देवेंदर मांझी को चुनावी नैया पार कराने की जिम्मेदारी है.परिवारवाद पर सवाल पूछते ही इमामगंज से प्रत्याशीनाराज हो जाते हैं.

वे कहते हैं कि ''ये सब आप लोगों के दिमाग की उपज है. हम सातों सीटों को जीताने की कोशिश कर रहे हैं.''लेकिन जीतनराम मांझी भी राजनीति के पुराने खिलाड़ी हैं लिहाजा महादलित कार्ड उनके हाथ में है. प्राइवेट नौकरी में भी दलितों को आरक्षण देने का वादा कर रहे हैं चाहे नीतीश कुमार इसके लिए राजी हों या न हों. पर विपक्षी परिवारवाद के बहाने जीतनराम मांझी को घेरने में जुटे हैं.

News source ~ NDTV